आखिर ब्लॉगर्स की इज्जत का सवाल है भाई।

SHARE:

बात को आगे बढ़ाने से पहले मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि मैं न तो कोई बड़ा ब्लॉगर हूँ और न ही स्वयं को तीसमारखाँ मानने का भ्रम पालता ह...

बात को आगे बढ़ाने से पहले मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि मैं न तो कोई बड़ा ब्लॉगर हूँ और न ही स्वयं को तीसमारखाँ मानने का भ्रम पालता हूँ। लेकिन बावजूद इसके कुछ छोटी-छोटी गल्तियाँ करते हुए अक्सर बड़े-बड़े ब्लॉगर को देखता हूँ। इसीलिए छोटी सी गलती, जो बड़े-बड़े ब्लॉगर करते हैं की दूसरी कड़ी लिखने के लिए विवश हुआ हूँ।

पिछले दिनों मुझे आगरा और जौनपुर जाना हुआ था, जहाँ पर कई ब्लॉगरों से मुलाकात हुई थी। इन दोनों जगहों पर मेरे साथ एक समान घटना हुई। जब वहाँ के ब्लॉगर से मुलाकात हुई, तो कुछ लोगों ने अपने-अपने विजिटिंग कार्ड भी मुझे दिये। मैंने जब कार्ड को ध्यान से देखा, तो दो कार्डों में एक छोटी लेकिन महत्वपूर्ण गल्ती देखने को मिली।

वह गल्ती यह थी कि उन दोनों सज्जनों ने अपने विजिटिंग कार्ड पर अपने ब्लॉग का पता भी लिखा हुआ था। लेकिन पते में http:// के स्थान पर उन्होंने www दर्शाया हुआ था। शायद ऐसे आपको यह बात समझ में न आ रही हो, इसलिए मैं आपको उदाहरण देना चाहूँगा। जैसे कि मेरे इस ब्लॉग 'मेरी दुनिया मेरे सपने' का एड्रेस है http://me.scientificworld.in/ अब यदि मैं इसे www.me.scientificworld.in/ लिखूँ, तो यह गलत होगा। ऐसा करने से एक तो आपका ब्लॉग खुलेगा नहीं, दूसरा यदि कोई जानकार व्यक्ति इसे पढ़ेगा, तो वह आपके ऊपर हंसेगा। इसलिए यदि आप ब्लॉगर हैं और अपना विजिटिंग कार्ड छपवा रहे हैं, तो प्लीज इस छोटी सी गल्ती को कत्तई न दोहराएँ।

अब आप यह जरूर पूछोगे कि आखिर इस http:// www और चक्कर क्या है? तो मामला यह है कि जब कोई व्यक्ति डोमेन नेम खरीदता है, तो उसे http://www. के साथ नाम मिलता है। जैसे  साइंटिफिक वर्ल्‍ड डॉट इन http://www.scientificworld.in/ 'साइंटिफिक वर्ल्‍ड' समूह का खरीदा हुआ डोमेन है, जिसपर उसके तमाम ब्लॉग चलते हैं। यानी कि मेन डोमेन पर 'साइंटिफिक वर्ल्‍ड' http://www.scientificworld.in/, तथा उसपर सब डोमेन लगाकर 'साइंस ब्लॉगर्स असोसिएशन' http://blog.scientificworld.in/ आदि ब्लॉग चलाए जाते हैं। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है कि जब किसी डोमेन पर सब डोमेन लगाए जाते हैं, तो उसके पते में से www गायब हो जाता है और सिर्फ http:// रह जाता है। यही कारण है कि चाहे ब्लॉग स्पॉट पर स्थापित कोई ब्लॉग हो अथवा किसी खरीदे हुए डोमेन पर सब डोमेन लगाकर चलने वाले ब्लॉग, सभी के पते में शुरू में http:// ही रहता है।

आशा है यह छोटी सी जानकारी आप उपयोग में लाएँगे और आगे से हर किसी को अपने ब्लॉग का सही पता बताएँगे। आखिर यह ब्लॉगर्स की इज्जत का सवाल है भई। क्यों, सही कहा न?

COMMENTS

BLOGGER: 45
  1. aap sahi kah rahe honge.. par utsuktaavas chrome main www.aadityaranjan.blogspot.com type kiyaa... or khul gayaa.. :)


    lekin pataa to sahi honaa hi chaahiye...

    जवाब देंहटाएं
  2. ब्लागर्स की महिमा अनंत।

    जवाब देंहटाएं
  3. रंजन जी, मोजिला में इस तरह से पता टाइप करने पर नहीं खुलता है, जबकि इंटरनेट एक्सप्लोरर में टाइप करने पर वह सर्च पृष्ठ पर फारवर्ड कर देता है। हाँ, क्रोम में कभी ट्राई नहीं किया।

    जवाब देंहटाएं
  4. जाकिर जी ... जानकारी तो बहुत लाजवाब है ....अच्छी जानकारी है ....

    जवाब देंहटाएं
  5. अरे!
    तभी तो!
    बिल्कुल सही स्पेलिंग लिखने के बाद भी कई साईटें/ब्लॉग खुलती ही नहीं थी और मैं सोच रहा था कि क्या कारण है?
    बहुत बढिया जानकारी दी जी आपने
    हार्दिक धन्यवाद

    प्रणाम

    जवाब देंहटाएं
  6. रंजन जी, आपकी बात से मन में शक का कीड़ा कुलबुला रहा था, सोचा इसे क्लियर कर लिया जाए, इसलिए तुरंत ही क्रोम इंस्टाल करने बैठ गया। क्रोम इंस्टाल होते ही उस पर 'मेरी दुनिया मेरे सपने' का गलत पता www.za.samwaad.com/ टाइप किया, आशा के अनुरूप ब्लॉग नहीं खुला। दूसरा बार 'तस्लीम' का गलत पता www.ts.samwaad.com/ टाइप किया, तो उसने पूछा 'डिड यू मीन फलां फला?' उसे क्लिक करने पर ब्लॉग खुल गया, लेकिन तीसरा पता 'बालमन' www.bm.samwaad.com/ का टाइप करने पर फिर नहीं खुला।
    जहाँ तक आपके ब्लॉग खुल जाने की बात है, तो वह इसलिए हुआ क्योंकि आप क्रोम पर अपना ब्लॉग रोज ही खोलते रहते हैं, इसलिए मेमोरी से क्रोम ने सही पता पढ लिया और पता गलत टाइप होने के बावजूद उसे खोल दिया। जबकि दूसरे पतों में ऐसा नहीं होता है, इसलिए वे नहीं खुलते हैं।

    जवाब देंहटाएं
  7. साधारण लेकिन सावधानी युक्त जानकारी, आभार

    जवाब देंहटाएं
  8. आभार इस महत्वपूर्ण जानकारी के लिए
    regards

    जवाब देंहटाएं
  9. Jay ho gurudev!
    aapne to hamari aankhen khol diya varna.... pata nahi hamara bhi ijjat ka sawal tha

    -bhuwnesh

    जवाब देंहटाएं
  10. काम की जानकारी मिली आभार..

    जवाब देंहटाएं
  11. जी ये तो सच में ही काम की जानकारी दी आपने ....हम तो विजिटिंग कार्ड की जगह अब अपना फ़ोटो ही पकडा देंगे अब ..कि लो गूगल में ऐसा थोबडा ढूंढ लो..ब्लॉग भी मिल ही जाएगा देर सवेर ...हा हा हा

    जवाब देंहटाएं
  12. MAIN HTTP:// AUR WWW. KA FARQ SAN 001 SE JANTA HOON...

    SAARTHAK JANKARI

    जवाब देंहटाएं
  13. जानकारी के लिए शुक्रिया.

    जवाब देंहटाएं
  14. जानकारी के लिए शुक्रिया.

    जवाब देंहटाएं
  15. जाकिर भाई, बहुत से ऐसे भी ब्लौगर हैं जिन्होंने www के मोह के कारण अपने ब्लौग्स्पोट वाले ब्लौग में भी कहीं न कहीं www लगा रखा है.

    जवाब देंहटाएं
  16. तभी हम आज तक इज्जत बरकरार रखे हुए हैं..क्यों कि हमें इस बात की जानकारी थी :)

    जवाब देंहटाएं
  17. अच्छी बात- मगर गल्ती की गलती ?

    जवाब देंहटाएं
  18. पर मेरा ब्लाग तो खुल रहा है, नीचे लिखे दोनों पते ट्राई कर लिए :-(
    http://www.kajalkumarcartoons.blogspot.com/
    या
    http://kajalkumarcartoons.blogspot.com/

    जवाब देंहटाएं

  19. बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

    आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

    आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

    जवाब देंहटाएं
  20. मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि मैं न तो कोई बड़ा ब्लॉगर हूँ


    --इतनी शानदार जानकारी तो बड़ा क्या..बड़का ब्लॉगर ही दे सकता है..पक्का यह आपका गलत स्टेटमेन्ट है, कृप्या वापस लें. :)

    जवाब देंहटाएं
  21. बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी! आपने बिलकुल सही कहा.

    जवाब देंहटाएं
  22. अच्छी जानकारी के लिए आपका आभार ...

    नीरज

    जवाब देंहटाएं
  23. जानकारी के लिए शुक्रिया.

    जवाब देंहटाएं
  24. .
    .
    .
    अच्छी, महत्वपूर्ण व उपयोगी जानकारी...

    आभार!


    ...

    जवाब देंहटाएं
  25. वाकई .. छोटी किन्तु महत्वपूर्ण बात.
    आमतौर पर लोग इन छोटी छोटी बातों का ध्यान नहीं रखते .

    जवाब देंहटाएं
  26. बहुत अच्छी जानकारी आपने दी है .... हर कोई इस बात से वाकिफ नहीं होता बस हमारा ब्लॉग खुलता है मतलब www यही आम आदमीकी सोच है ...
    very Nice and informative post for everyone new in computer field.

    जवाब देंहटाएं
  27. बहुत ही बढ़िया और महत्वपूर्ण जानकारी दी है आपने! बहुत बहुत धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  28. बढ़िया और महत्वपूर्ण जानकारी...आभार

    जवाब देंहटाएं
  29. आपने अच्छा ध्यान दिलाया!
    --
    आपने भी "गलती" को गल्ती लिख ही दिया!
    --
    ध्यान दिलाने से सुधार हो जाता है!

    जवाब देंहटाएं
  30. आपने अच्छा ध्यान दिलाया!
    --
    आपने भी "गलती" को गल्ती लिख ही दिया!
    --
    ध्यान दिलाने से सुधार हो जाता है!

    जवाब देंहटाएं
  31. बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    जवाब देंहटाएं
  32. सही ध्यान दिलाया है । वैसे हमने तो लिखा ही नहीं है । यानि न काम करो , न गलतियाँ होंगी ।

    जवाब देंहटाएं
  33. बात तो बिलकुल सही है ....आभार
    यहाँ भी पधारें ...
    विरक्ति पथ

    जवाब देंहटाएं
  34. अरविंद जी, शुक्रिया। गिरिजेश जी की मेहनत रंग ला रही है। :)

    जवाब देंहटाएं
  35. वह गल्ती यह थी कि उन दोनों सज्जनों ने अपने विजिटिंग कार्ड पर अपने ब्लॉग का पता भी लिखा हुआ था। लेकिन पते में http:// के स्थान पर उन्होंने www दर्शाया हुआ था। शायद ऐसे आपको यह बात समझ में न आ रही हो, इसलिए मैं आपको उदाहरण देना चाहूँगा। जैसे कि मेरे इस ब्लॉग 'मेरी दुनिया मेरे सपने' का एड्रेस है http://za.samwaad.com/ अब यदि मैं इसे www.za.samwaad.com/ लिखूँ, तो यह गलत होगा। ऐसा करने से एक तो आपका ब्लॉग खुलेगा नहीं, दूसरा यदि कोई जानकार व्यक्ति इसे पढ़ेगा, तो वह आपके ऊपर हंसेगा। इसलिए यदि आप ब्लॉगर हैं और अपना विजिटिंग कार्ड छपवा रहे हैं, तो प्लीज इस छोटी सी गल्ती को कत्तई न दोहराएँ।


    Achchha !? achchha hai maine kabhi is bare mein nahin socha

    जवाब देंहटाएं
  36. मैं विजिटिंग कार्ड छपवाने ही वाला था। बचा लिया आपने गलती करने से।

    जवाब देंहटाएं
आपके अल्‍फ़ाज़ देंगे हर क़दम पर हौसला।
ज़र्रानवाज़ी के लिए शुक्रिया! जी शुक्रिया।।

नाम

achievements,4,album,1,award,21,bal-kahani,7,bal-kavita,5,bal-sahitya,30,bal-sahityakar,15,bal-vigyankatha,3,blog-awards,29,blog-review,45,blogging,43,blogs,49,books,12,children-books,11,creation,11,Education,4,family,8,hasya vyang,3,hasya-vyang,8,Health,1,Hindi Magazines,7,interview,2,investment,3,kahani,2,kavita,8,kids,6,literature,15,Motivation,54,motivational biography,15,motivational love stories,7,motivational quotes,13,motivational real stories,4,motivational stories,21,ncert-cbse,9,personal,24,popular-blogs,4,religion,1,research,1,review,18,sahitya,32,samwaad-samman,23,science-fiction,4,script-writing,7,secret of happiness,1,seminar,23,Shayari,1,SKS,6,social,35,tips,12,useful,14,wife,1,writer,10,
ltr
item
हिंदी वर्ल्ड - Hindi World: आखिर ब्लॉगर्स की इज्जत का सवाल है भाई।
आखिर ब्लॉगर्स की इज्जत का सवाल है भाई।
https://t1.gstatic.com/images?q=tbn:ANd9GcSXaRggeCyJrAHN6_MWNF3ZU6GQpT-_P_gQQfLrXIk7Rkpp_1k&t=1&usg=__5Y7z2rYwsqEaxTnVd1J5bZBUF8I%3D
हिंदी वर्ल्ड - Hindi World
https://me.scientificworld.in/2010/09/blog-post_16.html
https://me.scientificworld.in/
https://me.scientificworld.in/
https://me.scientificworld.in/2010/09/blog-post_16.html
true
290840405926959662
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy